ऐसे कम की उदाहरण देखने को मिलते हैं जब सड़क पर लाखों की कीमती चीज किसी को मिले तो वह बिना किसी लोभ-लालच के सीधा पुलिस के पास जमा करवा देता हो और पुलिस भी बिना देरी किये सम्बंधित का पता कर उसे उनका वह लाखों का सामान लौटा दे। ऐसा की एक उदाहरण उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ जिले में देखने को मिला, जहाँ एक युवक को एक लाख से अधिक की कीमती 02 तोले की सोने की नथ सड़क पर मिला जिसे वह बिना किसी लालच के स्थानीय पुलिस को सुपुर्द कर सम्बंधित तक पहुँचाने की गुजारिश करता है।
दिनाँक 25/08/2020 की सायं रोहित चन्द पुत्र श्री भरत चन्द निवासी भूलागाँव पिथौरागढ़ को कमल बारात घर पिथौरागढ़ के सामने सड़क पर एक सोने की नथ मिली जो लगभग 02 तोले की थी, रोहित चंद द्वारा अपनी ईमानदारी व पारदर्शिता दिखाते हुए उपरोक्त सोने की नथ को सुरक्षित कोतवाली पिथौरागढ़ को सुपुर्द कर दिया। जिस पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पिथौरागढ़ द्वारा उक्त नथ के डिब्बे में दर्ज ज्वैलर्स के मोबाईल नम्बर से सम्पर्क कर नथ का हुलिया बताकर जानकारी प्राप्त की गई। ज्वैलर्स द्वारा बताया गया कि यह नथ उनकी दुकान से हाल ही में ग्राम बिसखोली डाकघर मड़ पिथौरागढ़, हॉल – पितरौटा कोत0 पिथौरागढ़ निवासी एक महिला द्वारा बनवाई गई है। ज्वैलर्स से संबधित का मोबाइल नंबर लेकर सम्पर्क किया गया। महिला द्वारा अपनी नथ की पहचान की गई, जिस पर उक्त महिला को कोतवाली पिथौरागढ़ बुलाकर उपरोक्त नथ को महिला को सुपुर्द किया गया। यह जानकारी पिथौरागढ़ पुलिस के मीडिया सैल ने सोशल मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक की है। 
आज के बाजार भाव के हिसाब से इस नथ की कीमत एक लाख पांच हजार के करीब है। वर्तमान में जहाँ देश में चोरी, मुनाफाखोरी, रिश्वतखोरी की कई घटनाएँ सामने आ आती हैं वहीं देवभूमि उत्तराखण्ड के पिथौरागढ़ से ईमानदारी की यह मिसाल सभी लोगों के लिए प्रेरणादायक है। यहाँ पहले भी कई ऐसी घटनाएं हुई हैं जिनमें लोगों ने अपनी ईमानदारी का परिचय देकर इस देवभूमि उत्तराखण्ड का मान बढ़ाया है। 
हम सभी पिथौरागढ़ के रोहित चन्द की ईमानदारी का सम्मान कर उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं और आप सभी युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत बनेंगे।
Previous Post Next Post