Showing posts from July, 2018

प्रसव के लिए लकड़ी के स्ट्रेचर में प्रसूता को लेकर 22 किमी पैदल चले कुंवारी के ग्रामीण।

उत्तराखंड | बागेश्वर जनपद स्थित कपकोट तहसील के अंतिम गाँव कुंवारी में रहने वाली गर्भवती महिला अनीता देवी की दुखद दास्तां मजबूर कर देती है ...

Sarmul-Origin of Saryu River | सरमूल - सरयू नदी का उद्गम स्थल।

Origin of Saryu River |  सरयू का उद्गम स्थल उत्तराखण्ड  (बागेश्वर) |  कपकोट ब्लॉक के झूनी ग्राम पंचायत में स्थित एक सुन्दर पहाड़ी से ...

AAMA KI BAAT | आमा की बात।

बचपन में कुछ समय आमा (नानी) के बिताने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। तब आज की तरह मनोरंजन के साधन नहीं थे। टेलीविजन भी नहीं था, गांव बिजली भी नही...

Inter College Pothing | कहने को इंटर कॉलेज, शिक्षक सिर्फ तीन।

उत्तराखंड (बागेश्वर) | कपकोट ब्लॉक स्थित पोथिंग के ग्रामीणों के लिए वह एक ख़ुशी का पल था जब गांव के हाइस्कूल को इंटरमीडिएट की मान्यता प्रा...

Bageshwar | कदली वृक्ष रोपकर प्रारम्भ हुई माँ नंदा भगवती पूजा की तैयारियां।

उत्तराखण्ड । बागेश्वर जिले के कपकोट ब्लॉक स्थित पोथिंग गांव में हरेला पर्व बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाता है। हर तीसरे वर्ष हरेला पर्व पर आद...

Harela Festival Uttarakhand -पर्यावरण को समर्पित लोकपर्व।

रिंगाल की टोकरी में उगा हरेला | साभार - सोशल साइट्स  Harela Festival पर्यावरण असंतुलन भले ही आज बड़ी समस्या हो, लेकिन उत्तराखंड पर्यावरण ...

Harela Festival - पर्यावरण संरक्षण का सन्देश देता है उत्तराखंड का हरेला पर्व।

हरेला पर्व हमें नई ऋतु के शुरू होने की सूचना देता है। यह त्योहार हिंदी सौर पंचांग की तिथियों के अनुसार तीन बार मनाया जाता है। शीत ऋतु की...

Load More
No results found